दृश्य एवं श्रव्य


हिंदी विश्वविद्यालय एवं समाज के मध्यस्थ उपयोगिता और सम्बन्धों की दृष्टि से अटल बिहारी वाजपेयी हिंदी विश्वविद्यालय, भोपाल में विभिन्न अध्ययन केन्द्रों की स्थापना करते हुए उसके स्थान, प्रविधि, संरचना एवं क्रियाकलापों का विस्तृत प्रारूप उसके विशेषज्ञों की समितियों के माध्यम बनाया गया। इन अध्ययन केन्द्रों की स्थापना हेतु एक व्यापक महत्वाकांक्षी योजनाओं को दृष्टि में रखकर विद्या परिषद की बैठक 5 जनवरी, 2013 को सम्पन्न हुई तदुपरान्त 15 फरवरी, 2013 को कार्य परिषद द्वारा अनुमोदन किया गया।

दृश्य एवं श्रव्य केन्द्र


विश्वविद्यालय द्वारा प्रस्तावित दृश्य एवं श्रव्य केन्द्र के निम्नलिखित उद्देश्य हैं -

  • विश्वविद्यालय में संचालित विभिन्न पाठ्यक्रमों की दृश्य एवं श्रव्य सामग्री का निर्माण करना।
  • विश्वविद्यालय की विस्तार गतिविधियों एवं विशेषज्ञों के व्याख्यानों का ध्वन्यांकन तथा प्रचार-प्रसार करना।
  • विश्वविद्यालय द्वारा तैयार दृश्य एवं श्रव्य सामग्री का प्रसारण एवं वेबकास्टिंग की व्यवस्था करना।
  • अंग्रेजी अथवा अन्य भाषाओं में पूर्व से उपलब्ध शैक्षणिक दृश्य एवं श्रव्य सामग्री को हिंदी में रूपांतरित करने की सुविधा विकसित करना।
  • दृश्य एवं श्रव्य संबंधी रोजगारोन्मुखी अल्पावधि पाठ्यक्रम एवं कार्यशालाएं आयोजित करना